बिज़नेस

Tesla in India: टेस्ला की भारत में एंट्री ‘कंफर्म’, जानिए क्या बोले एलन मस्क!

<p style=”text-align: justify;”><span style=”font-weight: 400;”><strong>Elon Musk:</strong> टेस्ला के भारत आने की तैयारियां लंबे समय से जारी हैं. हाल ही में खुलासा हुआ था कि टेस्ला (Tesla) की एक टीम अप्रैल के अंत में भारत का दौरा करने वाली है. यह टीम अपने प्रस्तावित प्लांट के लिए उपयुक्त जगह तलाशने के लिए कई राज्यों का दौरा करने वाली है. अब एलन मस्क (Elon Musk) ने भी टेस्ला की भारत में एंट्री लगभग कंफर्म कर दी है. उन्होंने कहा है कि टेस्ला के लिए भारत में इलेक्ट्रिक वेहिकल उपलब्ध कराना एक स्वाभाविक प्रगति है. उनके इस बयान को टेस्ला की इंडिया फैक्ट्री (Tesla India) से जोड़कर देखा जा रहा है.&nbsp;</span></p>
<h3 style=”text-align: justify;”><strong>ईवी प्रोडक्शन पर करना चाहते हैं बड़ा निवेश&nbsp;</strong></h3>
<p style=”text-align: justify;”><span style=”font-weight: 400;”>एलन मस्क भारत में ईवी प्रोडक्शन पर 2 से 3 अरब डॉलर का बड़ा निवेश करना चाहते हैं. भारत सरकार की नई ईवी पॉलिसी आने के बाद से टेस्ला की एंट्री के कयास लगाए जाने लगे थे. सरकार ने नई नीति में देश में प्रोडक्शन पर निवेश करने वाली कंपनियों को छूट प्रदान की है. इससे न सिर्फ देश में औद्योगिक उत्पादन में इजाफा होगा बल्कि नई नौकरियां भी पैदा होंगी.&nbsp;</span></p>
<h3 style=”text-align: justify;”><strong>टेस्ला को कई राज्यों से मिल रहे अच्छे ऑफर&nbsp;</strong></h3>
<p style=”text-align: justify;”><span style=”font-weight: 400;”>एएनआई ने सूत्रों के हवाले से दावा किया था कि महाराष्ट्र और गुजरात ने टेस्ला को अपने यहां फैक्ट्री लगाने के लिए जमीन पर आकर्षक ऑफर दिए हैं. इसके अलावा तेलंगाना सरकार भी ईवी मैन्युफैक्चरिंग प्लांट अपने यहां लाने के लिए गंभीरता से बातचीत कर रही है. कई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि टेस्ला की टीम गुजरात, महाराष्ट्र और तमिलनाडु समेत कई राज्यों का दौरा कर सकती है.&nbsp;&nbsp;</span></p>
<h3 style=”text-align: justify;”><strong>भारत समेत विदेशों में भी होगी सप्लाई&nbsp;</strong></h3>
<p style=”text-align: justify;”><span style=”font-weight: 400;”>टेस्ला का यह संभावित प्लांट न सिर्फ भारत बल्कि विदेशों में भी इलेक्ट्रिक कार सप्लाई करेगा. टेस्ला की प्लानिंग भारत में सस्ती ईवी कार बनाने की है. भारत सरकार ने नई ईवी पॉलिसी में 50 करोड़ डॉलर से ज्यादा निवेश करने वाली कंपनियों को 5 साल के लिए 15 फीसदी कस्टम्स ड्यूटी का फायदा देने का ऐलान किया था. हालांकि, उन्हें 3 साल के अंदर अपना प्लांट लगाना होगा. साथ ही 3 साल के अंदर 25 फीसदी और 5 साल में भारत में बने 50 फीसदी पार्ट्स इस्तेमाल करने होंगे.</span></p>
<p style=”text-align: justify;”><strong>ये भी पढ़ें&nbsp;</strong></p>
<p style=”text-align: justify;”><a href=”https://www.abplive.com/business/cbdt-says-that-there-is-no-special-drive-to-reopen-cases-of-wrong-hra-claims-2660491″><strong>HRA claims: एचआरए क्लेम्स फर्जीवाड़े में नहीं की जा रही कोई विशेष कार्रवाई, CBDT ने दी सफाई&nbsp;</strong></a></p>

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *